प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आर्टिकल 370 और 370A को ख़तम कर के रचा इतिहास!

BREAKING NEWS: भारत के पहले प्रधानमंत्री की गलती आर्टिकल 370 और 370A को ख़तम कर के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रचा नया इतिहास!

Video Source: Zee News

मीडिया के अनुसार, भारत के अब तक के इतिहास मे ऐसा कदम किसी भी सर्कार नहीं उठाया था जो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कि सरकार ने कर के दिखाया है। लोकसभा के अन्दर गृह मंत्री अमित शाह ने जब जम्‍मू-कश्‍मीर पुनर्गठन का बिल पेश किया और तभी गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर भारत का अभिन्‍न हिस्‍सा है और इस पर कानून बनाने का संसद को पूरा अधिकार है। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस के राज में अनुच्‍छेद 370 पर दो बार संशोधन हुआ है और इस बीच कांग्रेस के नेता की तरफ से पूछा गया कि क्‍या जब आप जम्‍मू-कश्‍मीर की बात करते हैं तो क्‍या इसमें पाक अधिकृत कश्‍मीर (PoK) भी शामिल है तो इस पर गृह मंत्री अमित शाह ने करारा जवाब देते हुए कहा कि वह जब भी मैं जम्‍मू-कश्‍मीर की बात करता हूँ तो उसमें स्‍वत: ही POK भी शामिल होता है। गृह मंत्री अमित शाह ने पलटवार करते हुए कांग्रेस पार्टी से पूछा कि क्‍या वो POK को भारत का हिस्‍सा नहीं मानती? गृह मंत्री अमित शाह ने गुस्से मैं ये भी बोल दीया कि मैं तो इसके लिए जान भी दे सकता हूं।

और जानने के लिए : BREAKING NEWS

वही आप को बता दे कि जम्मू और कश्मीर पर भारत कि मोदी सरकार की आक्रामक नीति ने पाकिस्तान को कुछ ज्यादा ही विचलित कर दिया है। पाकिस्तान की ये बौखलाहट इतनी ज्यादा है कि पाकिस्तान के सांसद National Assembly में कश्मीर पर बोलते हुए आपस में ही लड़ रहे हैं और एक दूसरे को भद्दी भद्दी गालियां दे रहे हैं। पाकिस्तान के सांसद एक दूसरे की तुलना जानवरों से कर रहे हैं और नौबत हाथापाई तक भी पहुंच चुकी है, कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान ने कैसे खुद का तमाशा बना दिया है।




आप को बता दे की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने जो आज कर दिखाया है उसको आज पूरी दुनिया सलाम कर रही है और खास कर के जम्‍मू-कश्‍मीर की जनता जो इस आर्टिकल 370 के बोझ के नीचे दबी हुयी थी, जिसके कारण जम्‍मू-कश्‍मीर की जनता को किसी प्रकार की सुबिधा नहीं मिलती थी। लेकिन अब जम्‍मू-कश्‍मीर की जनता और लदाख के जनता को उनका पूरा हक़ मिलेगा जो की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की साकार देना चाहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *