कांग्रेस पार्टी की असली सचाई मुसलमानों के लिए “यदि मुस्लमान गटर में पड़े रहना चाहते हैं तो पड़े रहें”!

BREAKING NEWS: जानिए कांग्रेस पार्टी किस नेता ने कहा था “यदि मुस्लमान गटर में पड़े रहना चाहते हैं तो पड़े रहें”!

Video Source: Zee News

जैसा की कुछ दिन पहले लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्‍ट्रपति के अभिभाषण पर को धन्‍यवाद प्रस्‍ताव के दौरान बोलते हुए कांग्रेस पार्टी से तीन तलाक के मुद्दे पर समर्थन की अपील की थी। आप को बता दे की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके साथ ही कांग्रेस की कड़ी आलोचना करते हुए ये भी कहा कि कांग्रेस पार्टी के एक पूर्व नेता ने एक बार मुसलमानों के लिए कहा था कि मुसलमानों का उत्‍थान करना कांग्रेस पार्टी का काम नहीं है अगर “मुसलमान गटर में पड़े रहना चाहते हैं तो पड़े रहें”। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पार्टी के उस नेता का नाम नहीं लिया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ये भी कहा की अगर आप को इसकी सचाई जाननी है तो में आप सब यूट्यूब का लिंक शेयर कर दूंगा।

और जानने के लिए : BREAKING NEWS

आप को बता दे की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने “मुसलमान गटर में पड़े रहना चाहते हैं तो पड़े रहें” वाली बात कांग्रेस पार्टी के पूर्व मंत्री आरिफ मोहम्‍मद खान के एक पुराने इंटरव्‍यू के हवाले से ये बात कही। आप सब को पता होगा की 1986 में शाहबानो केस में कांग्रेस से अलग राय रखने और मंत्री पद से इस्‍तीफा देने वाले आरिफ मोहम्‍मद खान ने उस समय दिए गए एक इंटरव्‍यू में कहा था कि उस समय की कांग्रेस पार्टी के तत्‍कालीन केंद्रीय मंत्री पीवी नरसिंह राव ने मुसलमानों को लेकर “मुसलमान गटर में पड़े रहना चाहते हैं तो पड़े रहें” ये टिप्‍पणी की थी। कांग्रेस पार्टी के पूर्व मंत्री आरिफ मोहम्‍मद खान ने बताया की पीवी नरसिंह राव ने उनको बुला कर कहा था की कांग्रेस पार्टी का काम मुसलमानों का उत्‍थान करना नहीं है अगर “मुसलमान गटर में पड़े रहना चाहते हैं तो पड़े रहें”।




कांग्रेस पार्टी के पूर्व मंत्री आरिफ मोहम्‍मद खान ने कहा कि अगले दिन जब मैं पार्लियामेंट पंहुचा तो अरुण सिंह जो कि उस समय के प्रधानमंत्री के सलाहकार थे वो सबसे पहले मुझे संसद के पास मिले और उन्होंने मुझे समझाने की बहुत कोशिश की। उन्‍होंने मुझ से बहुत अच्‍छी बातें कहीं, मैं उनका बहुत बहुत आदर करता हूं और उन्होंने मुझसे कहा कि नैतिक आधार पर आपकी बात सही है और आप की कोई गलती नहीं निकाल सकता लेकिन आप इस पर एक बार गौर कर लो। लेकिन मैंने जब मना कर दिया तो उसके बाद कांग्रेस पार्टी के अरुण नेहरू, फोतेदार भी आये, फिर मेरे पुराने तीन मंत्री भी आये, जिनके साथ मैंने काफी समय तक काम किया था और पूरे दिन PM के वेटिंग रूम में एक-एक करके लोग आते रहे और मुझे बहुत समझाते रहे। फिर सब से आखिर मे उस समय की कांग्रेस पार्टी के तत्‍कालीन केंद्रीय मंत्री पीवी नरसिंह राव आये और उन्होंने मुझे से कहा की कांग्रेस पार्टी एक पोलिटिकल बिज़नेस पार्टी है और कांग्रेस पार्टी का काम मुसलमानो का उथान करना नहीं है अगर ये “मुसलमान गटर में पड़े रहना चाहते हैं तो पड़े रहें” आप क्यों इस्तीफा दे रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *