क्या कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी राफेल डील के बहाने पाकिस्तान की मदद कर रहे है?

Breaking News : जानिए क्यों? राफेल डील के बहाने पाकिस्तान की मदद कर रहे है, कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी!!!!

Video Source: Zee Hindustan

मीडिया के अनुसार, पाकिस्‍तान के पूर्व गृह मंत्री रहमान मलिक ने राहुल गाँधी के राफेल डील वाले ट्वीट को रीट्वीट करके कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी की तारीफ की है और रहमान मलिक ने कहा कि राहुल गांधी भारत के अगले प्रधानमंत्री बनने वाले हैं। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है की शायद पाकिस्तान राहुल गाँधी के साथ कोई डील की है जिसके वजह से वो चाहता है की राहुल गाँधी अगले प्रधानमंत्री बन जाये और रहमान मलिक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत को भी गलत भाषा का इस्तेमाल किया।

और जानने के लिए : BREAKING NEWS

आप को बता दे की पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने एक ट्वीट कर कहा कि भारत में कुछ सत्ताधारी लोग भारत – पाकिस्तान के बीच युद्ध भड़काने की कोशिश कर रहे हैं, जिसे हम नकारते हैं। फवाद चौधरी ने कहा राहुल गाँधी और उनकी पार्टी राफेल डील पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर इस्तीफा देने का दबाव बना रही है, इसलिए मोदी भारत सरकार इस बड़े रक्षा डील से भारतीय जनता का ध्यान भटकने के लिए पाकिस्तान पे धयान भटका रही है।

वही एक मीडिया के रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान और ISI कांग्रेस पार्टी के राहुल गांधी को फूल मदद कर रहा है भारत मे होने वाले 2019 के लोक सभा के चुनाव मे, जैसा की हम सब जानते है की पाकिस्तान राहुल गाँधी को अगला प्रधानमंत्री बनाना चाहता है जिसके वजह से उसके सारे काम हो सकते है। वही कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी राफेल डील के ट्वीट पे पाकिस्तान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पे निशाना साधा है और राहुल गाँधी को एक अच्छा नेता बताया है। 

क्रिकेट टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने दिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चैलेंज!!!!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वीकार किया विराट कोहली का चैलेंज कहा जल्द दूंगा ‘जवाब’!!!!

Video Source: Zee News

मीडिया के अनुसार, हाल ही में खेलमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने देश में फिटनेस को लेकर जागरूकता अभियान के तहत एक वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड किया है। राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने सभी खेल और देश के सभी सिनेमा जगत की कुछ प्रमुख हस्तियों को टैग करते हुए उन सब से भी इस अभियान में शामिल होने की अपील की थी। खेलमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के इस वीडियाे के बाद देश मे जबर्दस्त रिएक्शन देखने को मिला और राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने इंडियन क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली को भी ये चैलेंज दिया।

और जानने के लिए : BREAKING NEWS

मीडिया के अनुसार, कप्तान विराट कोहली ने खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के इस चैलेंज को स्वीकार कर लिया और इसके साथ ही विराट कोहली ने वीडियो शेयर करते हुए कहा की मैं ने राज्यवर्धन सिंह राठौड़ सर का फिटनेस चैलेंज स्वीकार कर लिया है। अब मैं चाहूंगा कि मेरी पत्नी अनुष्का शर्मा, हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी और महेंद्र सिंह धोनी भी इसे स्वीकार करें और इस मुहीम को आगे बढ़ाये।

हाल ही मे विराट कोहली के इस फिटनेश चैलेंज को हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वीकार कर लिया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा ‘विराट कोहली का चैलेंज स्वीकार है और मैं जल्द ही वीडियो के जरिए अपना फिटनेस चैलेंज देश के सामने शेयर करूंगा’।

Video Source: ABP News

जैसा की आप को बता दे की खेलमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने ‘हम फिट तो इंडिया फिट’ हैशटैग से ट्विटर पर एक फिटनेस चैलेंज शुरू किया है। राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के ट्विटर पर अपलोड एक वीडियो में वह अपने दफ्तर में ही फिटनेश करते नजर आ रहे हैं। राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ऊर्जा से प्रेरणा लेने की बात करते हुए लिखा की ”मैं जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को देखता हूं तो उनसे मे बहुत प्रेरित होता हूं. उन के अंदर एक जबर्दस्त ऊर्जा है दिन रात काम करने की। उन्होंने कहा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी चाहते हैं कि पूरा भारत फिट हो जाए और मैं उनसे प्रेरित होकर चाहता हूं कि आप सब अपना व्यायाम करते हुए एक वीडियो बनाए और एक दूसरों को प्रेरित करें”।

Loading…

खेलमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने अपनी मुहिम में बॉलीवुड के स्टार ऋतिक रोशन, साइना नेहवाल और विराट कोहली को नॉमिनेट किया और सोशल मीडिया पर देश के लोग राज्यवर्धन सिंह राठौड़ की इस मुहिम की जमकर तारीफ कर रहे हैं। देश के लोग ‘हम फिट तो इंडिया फिट’ चैलेंज के जवाब में खुद की फोटो और वीडियो ट्विटर पे पोस्ट कर रहे हैं।

बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा महाभियोग प्रस्ताव लाकर कांग्रेस ने की खुदकुशी!!!!

महाभियोग प्रस्ताव लाकर कांग्रेस ने की खुदकुशी – बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी!!!!

Video Source: Zee News

मीडिया के अनुसार, प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव का नोटिस के खारिज होने पर बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने 23 अप्रैल को कहा कि ऐसे बकवास नोटिस पर निर्णय लेने में दो दिन लेना ही नहीं चाहिए था। जिस दिन कांग्रेस पार्टी और बाकी विपक्ष ने इस प्रस्ताव के लिए राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू को नोटिस दिया उसी दिन उन्हें इसे रद्द कर के फाड़ देना चाहिए था। सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा की वेंकैया नायडू ने बिल्कुल सही फैसला किया है और उन्हें ये निर्णय देने के लिए दो दिन की भी जरूरत नहीं थी। सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा की इस महाभियोग प्रस्ताव को शुरू में ही फेंक देना चाहिए था और उन्होंने कहा की कांग्रेस ने ऐसा करके राजनीति मे खुदकुशी की है।

और जानने के लिए : BREAKING NEWS

जैसा की हम सब जानते है की उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू ने प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा को पद से हटाने के लिए कांग्रेस एवं अन्य दलों की ओर से दिये गये महाभियोग प्रस्ताव की नोटिस पर कानूनविदों से विस्तृत विचार विमर्श के बाद 23 अप्रैल को उसे नामंजूर कर दिया। सूत्रों के अनुसार वेंकैया नायडू ने कांग्रेस सहित सात दलों के नोटिस को नामंजूर करने के अपने फैसले की जानकारी राज्यसभा के महासचिव देश दीपक वर्मा को भी दे दी है।

सूत्रों के अनुसार, उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा को पद से हटाने संबंधी कांग्रेस तथा बाकी दलों की ओर से दिए गए महाभियोग प्रस्ताव की नोटिस पर 22 अप्रैल को अटॉर्नी जनरल के. के. वेणुगोपाल सहित संविधानविदों और कानूनी विशेषज्ञों से विचार-विमर्श भी किया था। सूत्रों के अनुसार, वेंकैया नायडू ने याचिका को स्वीकार करने अथवा ठुकराने को लेकर संविधान विशेषज्ञ सुभाष कश्यप, पूर्व विधि सचिव पी.के. मल्होत्रा और विधायी मामलों के पूर्व सचिव संजय सिंह सहित अन्य विशेषज्ञों से कानूनी राय भी ली थी।

Loading…

अधिकारियों के अनुसार, वेंकैया नायडू ने इस मामले की गंभीरता के मद्देनज़र हैदराबाद के अपने कुछ कार्यक्रमों को भी रद्द कर कानूनविदों के साथ बैठक की थी। सचिवालय के अधिकारियों ने बताया कि वेंकैया नायडू ने राज्यसभा सचिवालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ भी विचार-विमर्श किया और उन्होंने उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश बी. सुदर्शन रेड्डी से भी बातचीत की। वेंकैया नायडू ने सभी विशेषज्ञों से बात करने के बाद महाभियोग प्रस्ताव की नोटिस नामंजूर किया और उन्होंने कहा की इस नोटिस को देख कर ऐसा लगता है की कांग्रेस पार्टी राजनीति के तहत ऐसा कर रही है इस लिए इस महाभियोग प्रस्ताव को नामंजूर किया जाता है।

मुख्तार अब्बास नकवी ने ऐसा क्यों कहा – ‘राहुल गांधी अक्ल से पैदल हैं क्या?

  बीजेपी के किस नेता ने कहा ‘राहुल गांधी अक्ल से पैदल हैं क्या?

Video Source: inKhabar

मीडिया के अनुसार, बीजेपी के अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने हाल ही मे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। बीजेपी नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अक्ल से पैदल हैं क्या? राहुल गांधी ये समझना चाहिए कि देश के लोगो का डाटा चोरी (फेसबुक डाटा) का गंभीर अपराध हुआ है और अगर उसमें शामिल हुए लोगों का पर्दाफाश हो रहा है तो इसमें राहुल गांधी और उनकी पार्टी को क्या प्रॉब्ल है?’

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक ट्वीट कर के आरोप लगाया है कि मोदी सरकार डाटा लीक मामले का सहारा लेकर 39 भारतीयों की इराक में हत्या किये जाने की घटना को दबा रही है क्युकी सरकार का झूठ पकड़ा गया है।

Loading…

फेसबुक के पांच करोड़ भारतीय यूजर्स की जानकारियां लीक मामला – 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, फेसबुक के संस्‍थापक मार्क जुकरबर्ग ने भी जानकारियां लीक मामले में अपनी कंपनी की गलती मानते हुए कहा है कि यूजर्स के डाटा की सुरक्षा करना हमारी जिम्‍मेदारी है लेकिन इस तरह की चूक हुई है। मीडिया मे ऐसा कहा जा रहा है कि ब्रिटेन की कैंब्रिज एनालिटिका कंपनी ने इस जानकारी को या तो चुराया है या फेसबुक से खरीदा है। कैंब्रिज एनालिटिका कंपनी एक इलेक्‍शन कंसल्‍टेंसी फर्म है और यह चुनावी अभियान के लिए संभावित वोटरों का प्रोफाइल तैयार करती है।

Loading…

और जानने के लिए : BREAKING NEWS

मीडिया मे कहा जा रहा है कि 2016 के अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव में फेसबुक से मिले डाटा का इस्‍तेमाल कर कैंब्रिज एनालिटिका कंपनी ने सोशल मीडिया में डोनाल्‍ड ट्रंप के पक्ष में माहौल बनाया था। भारत की दो सबसे बड़ी पार्टी बीजेपी और कांग्रेस एक-दूसरे पर इसकी सेवाएं लेने का आरोप लगा रही हैं और इस बीच पिछले एक हफ्ते में डाटा लीक होने की घटना सार्वजनिक होने के बाद फेसबुक कंपनी को 58 हजार करोड़ रुपये का नुकसान अब तक हो चुका है।

अरविंद केजरीवाल के विधायक नरेश बालियान का विवादित बयान कहा- अधिकारियों को ठोकना चाहिए!!!!

    Breaking News : अरविंद केजरीवाल का सच आया सामने!!!!

Video Source: Zee News

मीडिया के अनुसार, अभी कुछ दिन पहले अरविंद केजरीवाल के घर पर मुख्‍य सचिव अंशु प्रकाश के साथ हुई हातपाई की घटना का मामला अभी शांत हुआ भी नहीं था कि आम आदमी पार्टी के विधायक नरेश बालियान ने एक बहुत ही विवादित बयान दिया है। आम आदमी पार्टी के विधायक नरेश बालियान ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘जो मुख्य सचिव के साथ हुआ, वैसा आगे भी होगा और मैं तो कह रहा हूं ऐसे अधिकारियों को पीटना और ठोकना चाहिए।

Loading…

इस विवादित बयान के बाद जी न्यूज से बातचीत में नरेश बालियान ने कहा कि जो अधिकारि काम नहीं करेंगे उनके साथ हमारी आम आदमी पार्टी ऐसा ही करेगी और मैं ऐसे ही शब्दों का इस्तेमाल करूँगा। अरविंद केजरीवाल उस समय वह पे मौजूद थे और वह बैठ के हंस रहे थे, ऐसा लग रहा था जैसे की बोल कोई और रहा था लेकिन बोल किसी और के थे। इसके बाद आम आदमी पार्टी ने अपना पुराना लाप चालू कर दिया की मोदी सरकार उनकी पार्टी को बदनाम कर रही है।

और जानने के लिए पढ़े : BREAKING NEWS

मीडिया के अनुसार, अरविंद केजरीवाल ने पहली बार मुख्‍य सचिव अंशु प्रकाश के साथ हुई हातपाई की घटना के मामले पर बयान दिया। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली पुलिस नरेंद्र मोदी के कहने पे इस मामले की जांच इतनी गंभीरता से कर रही है दिल्ली पुलिस को इतनी गंभीरता से जस्टिस लोया मामले में भी करनी चाहिए। केजरीवाल ने दिल्ली पुलिस पर जमकर हमला किया और दिल्ली पुलिस के कामकाज के तरीके को लेकर भी सवाल खड़े किए।

कांग्रेस ने किया सचिन का अपमान, सचिन को राज्यसभा में विपक्ष ने नहीं बोलने दिया!!!!

   कांग्रेस के सांसदों ने किया अब तक की सब से बड़ी गलती!!!!

Video Source: Prime Minister Narender Modi

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सचिन तेंदुलकर (गुरुवार, 21 दिसंबर) को राज्यसभा में अपना पहला भाषण देना था, लेकिन कांग्रेस सांसदों ने हंगामे कर के उन्हें बोलने का मौका ही नहीं दिया बीजेपी सांसदों ने सचिन का समर्थन किया लेकिन कांग्रेस सांसदों के हंगामे की वजह से उनको बोलने का मौंका नहीं मिला शायद सचिन तेंदुलकर को पहली बार इस बात का एहसास हुआ होगा कि भारत की राजनीति क्या चीज़ होती है।

Loading…

रिपोर्ट के अनुसार, 21 दिसंबर को जब सचिन तेंदुलकर को राज्यसभा में बोलने की बारी आई, तो कांग्रेस के सभी सांसदों ने हंगामा शुरू कर दिया। जैसा की हम सब को पता है की कांग्रेस के ये सांसद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से उनके बयान पे माफी की मांग पर राज्यसभा में लगातार हंगामा कर रहे हैं और काफी देर तक सचिन तेंदुलकर खड़े रहने के बाद भी उनको कुछ बोलने का मौका नहीं दिया। जैसा की सब को पता है की सचिन तेंदुलकर एक भारत रत्न हैं और यूपीए के शासनकाल में ही उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। लेकिन शायद कांग्रेस के नेता ये सब कुछ भूल गये और वो सिर्फ राहुल की दुम बन कर के रहना चहते है। जैसा की क्रिकेट की भाषा में कहें तो पिच पर उछाल बहुत था लेकिन सचिन तेंदुलकर इससे विचलित नहीं हुए और उन्होंने राज्यसभा में अपने शांत स्वभाव और धैर्य का परिचय दिया।


और जानने के लिए पढ़े : BREAKING NEWS

आज सचिन तेंदुलकर ने Social Media के ज़रिये वही भाषण दे दिया, जो उन्हें कल राज्यसभा में बोलना था। सचिन तेंदुलकर ने अपने भाषण में कई सारी महत्वपूर्ण बातें कहीं हैं, जो आपको हम आगे बताएँगे लेकिन सबसे पहले आप सब ये देखिए कि कल कैसे राज्यसभा में कांग्रेस सांसदों ने सचिन तेंदुलकर को भाषण देने से रोक दिया था। जैसा की पूरी दुनिया के लोग जानते है की जिस तरह कोई सचिन तेंदुलकर के बल्ले को भी रोक नहीं पाता था उसी तरह कोई भी उनकी आवाज़ को भी रोक नहीं पायेगा। वैसे भी हम सब लोग जानते है की असली क्रिकेटर उसे ही कहते है, जिसे किसी भी पिच से कोई फर्क नहीं पड़ता और आज सचिन तेंदुलकर ने सोशल मीडिया का सहारा लिया जैसे की Facebook, Twitter और YouTube। सचिन तेंदुलकर ने सोशल मीडिया पर अपना भाषण Post किया जो उनको बोलना था और 15 मिनट के उनके भाषण से अपने Fans को एक बार फिर बहुत खुश कर दिया।

Loading…

सचिन तेंदुलकर ने अपने भाषण में देश को एक नया Vision दिया और उनके भाषण के बजाए संवाद कहना ज़्यादा बेहतर होगा क्योंकि इस Post में सचिन तेंदुलकर ने भारत देश की एक बहुत बड़ी समस्या को दरसाया हैं और ये समस्या है देश के अस्वस्थ और अनफिट इंडिया के युवा।

जैसा की हम सब को पता है की सचिन तेंदुलकर भारत रत्न से सम्मानित हैं और सचिन तेंदुलकर को 4 फरवरी 2014 को भारत रत्न से सम्मानित किया गया था और उस वक्त देश में कांग्रेस (यूपीए) की सरकार थी। यूपीए सरकार ने सचिन तेंदुलकर को 2012 में राज्यसभा सांसद बनाया था। यानी इसका मतलब है की जब कांग्रेस सत्ता में थी, तो जनभावनाओं के आधार पर सचिन तेंदुलकर को देश का सबसे बड़ा सम्मान दे दिया और आज जब विपक्ष में आ गई तो सचिन तेंदुलकर को राज्यसभा में बोलने का मौका भी नहीं दिया।

सचिन तेंदुलकर ने आज पूरे देश लोगो को ये सिखाया है कि सकारात्मक तरीके से सोशल मीडिया का इस्तेमाल कैसे किया जाता है। जैसा की हम सब जानते है कि कांग्रेस की असली औक़ात क्या है वो देश को बाटने की वकालत करता और कांग्रेस के खाने के और दिखने के दांत अलग है, देश के लोगो को ये समझना होगा की वो देश के बाटने वालो के साथ है या जोड़ने वालो के साथ?

जानिए किसने पहुंचाया मोदी लहर को पूरी दुनिया में???

मोदी अभियान की डिजिटल शाखा को पूरी दुनिया में फ़ैलाने में सबसे बड़ा हाथ भूपलम गोपालकृष्ण महेश!!!!

भूपलम गोपालकृष्ण महेश, ४६ की उम्र से पहले नरेंद्र मोदी के डिजिटल शाखा के प्रौद्योगिकी दिमाग के अभियान के पीछे सबसे बड़ा हाथ था; Oneindia शुरू होने से पहले वो एक समाचार पोर्टल कि समाचार को सात भाषाओं में करीब 18 लाख लोगों को एक महीने के लिए समाचार प्रदान करते थे; और इससे पहले कि वह 1990 के दशक और जल्दी 2000s के अल्पकालिक भारतीय डॉटकॉम बूम के प्रकार के एक पोस्टर ब्वॉय बन गए थे।

मोदी अभियान की डिजिटल शाखा को फ़ैलाने के लिए 10 वेबसाइट के करीब समाचार और iticentral.com और India272.com जैसे मंच तैयार किया। वे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को लोक सभा में कम से कम 272 सीटें जीत दिलाने के लिए बेहद उत्सुकता से  स्वकाम करते रहते थे। यह 50 लोगों की एक टीम है जो नई दिल्ली और बंगलौर में स्थित है और अरविंद गुप्ता, एक 43-भाजपा के सूचना प्रौद्योगिकी प्रकोष्ठ की देखरेख के अपने सभी डिजिटल-वेब, सामाजिक और मोबाइल गुण के रूप मे नेतृत्व किया करते है।

नरेंद्र मोदी खुद भी इस अभियान में अपनी एक बड़ी भूमिका निभाते रहे है और जैन और महेश के पीछे मस्तिष्क प्रौद्योगिकी दिमाग भी देते रहे है।

Loading…

महेश 1967 में बैंगलोर में पैदा हुए थे। उनके पिता सरकारी दूरसंचार के विभाग में एक अधिकारी के तौर पे काम करते थे। इस तरह महेश के जीवन की शुरुआत पटना से हुई उनका पूरा परिवार पटना में रहता था। महेश जब पटना में रहने आ गए उनका वह पे कोई दोस्त नहीं था। उनको समय बिताने के लिए एक ही रास्ता था वो समाचार पत्र पडने लगे और धीरे-धीरे उनकी हिन्दी बहुत अछि हो गयी।

वे कहते हैं कि उनकी हिंदी की व्याकरण बहुत बुरी थी और इसके अलावा वो गणित में बहुत अच्छे थे। महेश अंततः श्री जयचमराजा कॉलेज में इंजीनियरिंग का अध्ययन करने के लिए मैसूर में जाके पूरा किया। उस समय उनके विश्वविद्यालय में, सभी कंप्यूटरों के बारे में बात कर रहे थे और उनका कॉलेज देश का एक ऐसा कॉलेज था जहा पे उस टाइम में कंप्यूटर की सुविधा थी।

महेश टेलीमैटिक्स के विकास के लिए 1988 में कुछ साल एक विज्ञान संस्थान के कृत्रिम बुद्धि प्रयोगशाला में काम किया और सैम पित्रोदा के केंद्र में स्नातक की उपाधि प्राप्त की। 1989 में, महेश ने फैसला किया की वो अमेरिका में अध्ययन करना चाहते है। महेश ने बर्मिंघम, अलबामा के विश्वविद्यालय में अड्मिशन लिया जो वह का सबसे सस्ता विश्वविद्यालय में से एक था”, लेकिन महेश ने पहले से तय कर कि रखा था की वो भारत वापस जाकर वह पे काम करना चाहते है।

टाइम्स ऑफ इंडिया अखबार की रिपोर्ट के बाद महेश को बहुत सुर्खियों मिलने लगी उसके बाद मोदी ने 3 जुलाई २०१३ को महेश और जैन को अपने डिजिटल अभियान चलाने के लिए निवेदन किया। उसके बाद महेश ने चारों ओर एक डिजिटल मास्टरमाइंड की भाति संपूर्ण डिजिटल मोदी अभियान को नियंत्रित कर के प्रधानमंत्री अभियान को लोगो तक ले गए।

Loading…

महेश खुद को मोदी अभियान में अपनी भागीदारी के अधिक विवरण प्रदान करने के लिए अनिच्छुक रहते है।  हालांकि वह कहते हैं मोदी इतने उद्धार व्यक्ति है जिसकी वजह से उन्हें २०१४ में एक विशाल जीत मिली। उन्होंने ये भी कहा की वो २०१४ से पहले कभी भी गुजरात के मुख्यमंत्री से मुलाकात नहीं की थी। महेश कहते हैं की वो इस से कोई उम्मीद नहीं करते है वो सिर्फ इतना जानते है की सिर्फ मोदी ही एक अच्छा भारत बना सकते है और अगर वो इस में कुछ मदद कर सकते है तो उनके लिए बहुत बड़ी बात होगी।

Source: Image1, Image2, Image3, Image4, Image5, Image6

प्रधानमंत्रीं श्री नरेंद्र मोदी द्वारा २ अप्रैल को एशिया के सबसे लंबे बाय-डायरेक्शन रोड टनल का उद्घाटन

     एशिया के सबसे लंबे बाय-डायरेक्शन रोड टनल का उद्घाटन!!!!

प्रधानमंत्रीं श्री नरेंद्र मोदी २ अप्रैल को एशिया का सबसे लंबा बाय डायरेक्शन रोड टनल का उद्घाटन करने वाले है जो जम्मू-कश्मीर मैं बनाने वाले है।

उप-मुख्यमंत्री निर्मल सिंह के अनुसार “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2 अप्रैल को श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर एशिया का सबसे लंबी करीब 9.2 किलोमीटर लंबी चेनानी  नाशरी सुरंग का उद्घाटन करेंगे। 1 मार्च, २०१५ पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार के गठन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यह जम्मू और कश्मीर मैं चौथी यात्रा है। और ऐसे भी खबर है की PM मोदी चेनानी  नाशरी सुरंग  उद्घाटन के बाद वो जम्मू और कश्मीर के जनता के लिए एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे।

Loading…

ये 9.2 किलोमीटर सुरंग देश की सबसे लंबी सड़क सुरंग है, ये सुरंग चेनानी  क्षेत्र ऊधमपुर जिले के रामबन जिले में नाशरी क्षेत्र के साथ कनेक्ट होगी और इसका फायदा आम आदमी को होगा क्यों की इस सुरंग की वजह से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग की दुरी लगभग 31 किलोमीटर से कम हो जाएगा। और इस सुरंग की वजह से सर्दियों के दौरान खराब मौसम के कारण पटनी टाप पर श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर ट्रैफिक जाम कम करने में मदद करेगा।

अधिकारियों के अनुसार, मुख्य चेनानी  नाशरी सुरंग का एक एस्केप टनल 9 किलोमीटर का है। और सुरंग मैं 29 क्रॉस मार्ग, 2 रोटरी जंक्शनों, 2 छोटे पुलों, 7 पुलियाओं, 3 ड्रेनेज पाइप प्रत्येक मुख्य सुरंग में 9 किलोमीटर लंबाई की, 2 ड्रेनेज पाइप निकलने मैं 9 किलोमीटर लंबाई की सुरंग और दो 9 किलोमीटर ड्रेनेज पाइप में एस्केप टनल और 29 ड्रेनेज पाइप में अंश और 14 गृहस्थ खण्ड को पार। वहाँ रहे हैं 59 अग्निशमन खोलने और 118 आपातकालीन कॉल खोलने की तैयारी की गयी है। और इस परियोजना की सुरक्षा अंकेक्षण पहले ही हो चूका है।
अधिकारियों के अनुसार, कहा गया कि एनएचएआई मुख्य सुरंग के साथ साथ एक समानांतर एस्केप टनल का निर्माण करेने वाला है जिसकी वजह से बर्फीले तूफान या बर्फ से यात्रियों को आसानी से निकल जा सके। और सुरंग के दो ट्यूबों मैं 29 “क्रॉस-मार्ग” (प्रत्येक 300 मीटर के अंतराल के बाद) के माध्यम से आंतरिक रूप से कनेक्ट किया जाएगा और एस्केप टनल पैदल चलने वालों के लिए विशेष रूप से उपयोग किया जाएगा और ऑक्सीजन की कमी न हो सुरंग मैं इस का भी एक विशेष दूरी रखने का प्रावधान है।

Image Source: Image1, Image2 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *